Custom Search

बदलू और जागे घणी दारू पीया करते । बदलू की घरवाली किताबो उन-तैं घणी दुखी रहया करती । कतई तंग आ-कै एक दिन उसनै मन बणा लिया अक ईबकै आवण दे अनपूते नै पी कै –
लट्ठां तैं कूटूंगी ।

रात नै किताबो बांस की कामड़ी ले कै किवाड़ कै पाछै लुक कै खड़ी हो गई । बदलू पी कै दरवाजे में घुसण लाग्या, तै किताबो नै कामड़ी मार-मार कै उसकी सौड़ सी भर दी । बदलू
पिटता-पिटता बोल्या – “ए बेब्बे, गलती हो-गी, मैं तै गलत घर में आ-ग्या” ।

बदलू उल्ट-पाहयाँ जागे धोरै गया अर बोल्या – “जागे भाई, मैं तै आपणा घर भूल-ग्या, एक गलत घर में जा बड़या – तू मन्नै घरां छोड कै आ ।” जागे बोल्या – “अरै, तन्नै घणी
पी राखी सै, ल्या मैं छोड कै आऊं सूं तन्नैं तेरै घरां – चिन्ता ना कर ।”

जागे बदलू का हाथ पकड़ कै आगै-आगै चाल पड़या अर बदलू के घर का दरवाजा खुला देख कै उसनै खींचण लाग्या ।

किताबो फिर किवाड़ कै पाछै खड़ी थी, अंधेरे में उसनै कोनी देख्या अक कुण-सा आवै सै । किताबो नै कामड़ी सिंगवा कै जागे की कड़ में टेक दी और लागी उसकी सौड़ सी भरण ।

बदलू थोड़ी सी दूर जा कै बोल्या – “मार बेब्बे, मार साळे कै – पीये ओड़ समझ कै यो मन्नैं फिर एक गलत घर में बाड़ै था”!


एक बै दो तेज से बूढ़े हरयाणा रोडवेज की बस में बैठ लिये । कंडक्टर आया एक धोरै, अर बोल्या – “हां ताऊ, टिकट?”

बूढ़ा पईसे बचावण के चक्कर में था, बोल्या – “ओ मेरे यार कंडक्टर, न्यूँ सोच लिये अक गाम की छोरी फेट-गी थी” । कंडक्टर भी शरीफ था, मान-ग्या बेचारा ।

फिर कंडक्टर नै दूसरा ताऊ टोक लिया – “ताऊ, टिकट” ।

दूसरा ताऊ पहले वाले का भी उस्ताद लिकड़ा, बोल्या – “ओ मेरे यार कंडक्टर, छोडै ना, न्यूँ सोच लिये अक छोरी गैल बटेऊ भी था” !!


मैडम – बच्चो ABCD सुनाओ
अपणा रुलदू – मैड़म जी मै सुनाऊ
मैडम – शाबाश बेटा रुलदू , सुनाओ
रुलदू – ABCD
मैडम – हां हां बेटा और सुनाओ
रुलदू – बस और सब बढिया जी आप सुनाओ


Ek b ek aadmi bus m baitha tha.
Conductor te bola Bhai ek bidi pilu ke.
Cond. Bola tanne ticket leli?
Nu bola ha leli.
Conductor bola: ibb chahe spray pile.


भाई, रमलू घणा ऐं बोद्दा, मरियल सा हो-ग्या । उसतैं गाम का एक ताऊ कहणलाग्या – रै रमलू कुछ घी-वी खा लिया कर, तेरा गात कुछ ठीक सा दीखण लाग ज्यागा ।न्यूं सुण कै रमलू
बोल्या – ताऊ, मैं घी नै ऐं तै तोड़ राख्या सूं !रमलू की या बात सुण कै ताऊ बोल्या – भाई, न्यूं क्यूकर बणी ?


Ek baar Bhai ek budda bus m chade tha conductor nu bolya tau aage k nhi piche k chadle.
Tau nu bola kyu aage t leep rakhi hai.


Ak Baar Ak Master Balka T Nu Bolya
Agr J Koa Ak Bar Choriya K Hostel M Gya Ne T Usp 100 Rupea Fine,
Ar Dusre Baar Gya T 200, Ar Teesree Baar Gya Ne T Uspa 500 Rupea Fine,
T Peeche T Ak Jaat Ka Bolya K Je Yo Pass Kitne M Bn Ja Ga.

We have 75 guests and no members online