छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था
एक नाई, एक खाती ,एक काला लुहार था ।
छोटे घर थे ,हर आदमी बङा दिलदार था
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था ।
कितै रोटी खा लेतै ,हर घर मे भोजऩ तैयार था,
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था ।
बिटोङे पे घिया तौरी हो जाती
जिसके आगे शाही पनीर बेकार था,
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था ।
दो मिऩट की मैगी ना ,झटपट दलिया तैयार था,
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था ।
नीम की निबॊँली और शहतुत सदाबहार था,
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था
अपणा घङवा कस बजा लेते, “PP" पुरा संगीतकार था
छोटा सा गाम मेरा पुरा बिग् बाजार था

We have 79 guests and no members online